Breaking News

Breaking News English

Urgent::www.AMUNetwork.com needs Part Time campus Reporters.Please Contact:-deskamunetwork@gmail.com
अलीगढ़ ::एएमयू कुलपति जमीरउद्दीन शाह का सेवा काल सेना के इतिहास में स्वच्छ, अनुशासनप्रिय एवं वीरता की गाथाओं से परिपूर्ण है।

दास्तान गोई को बचाने के लिए तहरीक की ज़रुरत :साहिल

रामपुर में उर्दू की शायरी अस्नाफ। सम्त व रफ़्तार पर एक नेशनल सेमिनार हुआ। इस सेमिनार में उर्दू मुशायरों में अ रही कमी पर गोर ओ फ़िक्र हुई साथ साथ इस बात पर भी चर्चा हुई की ज़ाद ज़ाद नोजवानो को उर्दू शायरी में आना चाहिए और छोटे छोटे मुशायरों को बढ़ावा मिलना चाहिए ताकि हर शहर से ज़ाद से ज़ाद मुशायरे हो जिससे उर्दू अदब को बढ़ावा मिले।

ये उर्दू सेमिनार केअर एडुकेशन वेलफेयर सोसाइटी की जानिब से और एन सी पी यू एल के ताव्वुन से हुआ। इसमें दिल्ली सहित देश के मुख़्तलिफ़ हिस्सों से आये दनीश्वरो ने अपने अपने पेपर से ज़रीए अपनी रॉय रखे।

दिल्ली से पेपर प्रेजेंट करने आये सय्यद साहिल आग़ा बताते है की उर्दू की तहज़ीब को बचाने के लिए उसके कल्चर को बचाना ज़रूरी है। मुशायरों के साथ साथ एक खास आर्ट और भी है जो कम नहीं बल्कि ख़त्म होती जा रही है वो आर्ट है दास्तान गोई। जिसको बचाने के लिए भी तहरीक चलना चाहिए।

5 comments:

  1. Ooh. It's really great.

    ReplyDelete
  2. Shaziya khalid khanOctober 29, 2016 at 12:32 AM

    Keep it up sir. Dastangoi ke liye attest koi toh ikhlaas se kaam Kare. It's osm art . Plz invite us n yr next show...

    ReplyDelete
  3. Najeeba.ansari@rediffmail.comOctober 29, 2016 at 12:40 AM

    Uuuf. Please translate or post this n English too..

    ReplyDelete