Breaking News

Breaking News English

Urgent::www.AMUNetwork.com needs Part Time campus Reporters.Please Contact:-deskamunetwork@gmail.com
अलीगढ़ ::एएमयू कुलपति जमीरउद्दीन शाह का सेवा काल सेना के इतिहास में स्वच्छ, अनुशासनप्रिय एवं वीरता की गाथाओं से परिपूर्ण है।

सिंगापुर के इस मुस्लिम वैज्ञानिक का अविष्कार बदलदेगा दुनिया। ऐसी है ये चिप

दुनिया भर में हो रहे तकनीकी विकास में सबसे बड़ा हाथ अगर किसी चीज़ का है तो वह है ऊर्जा/ बिजली। वही बिजली जिसके चले जाने पर हम परेशान से हो उठते हैं, फैक्टरियां काम करना बंद कर देती हैं और बहुत कुछ थम सा जाता है। इसी परेशानी को दूर करने के रुख में एक बेहतरीन खोज की है मोरक्को में पले-बढ़े और फ्रांस में रह रहे एक मुस्लिम साइंटिस्ट प्रोफेसर रचिद यज़ामी ने।
रचिद ने एक ऐसी चिप इज़ाद की है जिसकी बदौलत एक स्मार्टफोन सिर्फ 10 मिनट में चार्ज हो सकता है। यही नहीं इस चिप के जरिये इलेक्ट्रिक कारों को भी जल्दी और बढ़िया तरीके से चार्ज किया जा सकता है। रचिद की तरफ से तैयार की गयी यह चिप आपकी अंगुली के नाखून से भी छोटी है और किसी भी बैटरी से आसानी से जोड़ी जा सकती है।
दरअसल आज कल करीबन हर चीज़ में काम आने वाली लीथियम-आयन बैटरीओं को चार्ज करने का तरीका अलग है इन्हें चार्ज करने के लिए धीमे करंट की जरुरत होती है नहीं तो बैटरी जलने का खतरा रहता है। लेकिन रचिद की चिप तेज़ करंट भेजकर पूरी रफ़्तार से चार्जिंग तो कर ही सकती है साथ में ही बैटरी को नुक्सान होने से बचाने के लिए उसका टेम्प्रेचर भी कंट्रोल करती है।
सियासत.कॉम के अनुसार रचिद को अपनी इस खोज के लिए साल 2014 में चार्ल्स स्टार्क ड्रेपर प्राइज के साथ भी नवाज़ा गया है इसके इलावा उन्हें मोरक्को के राजा मोहम्मद छठे ने भी 2014 में शाही मेडल से नवाज़ा है। रचिद ने अपने एक इंटरव्यू में कहा कि वह चाहते हैं की दुनिया कि हर बैटरी के साथ इस चिप को जोड़ा जाए ताकि बैटरियों को ज़यादा से ज़यादा महफूज़ बनाया जा सके।

No comments:

Post a Comment